Narmada river

Size: 11 X 14 inches (Width X Length)
Surface : Paper
Category : Gond Painting / None / On Paper

₹ 1604(Inclusive of Packaging, Shipping and GST)

Available Stock : 1

मां नर्मदा की बारात आई तो जोहिला बोली नर्मदा से जीजा जी को More देखना चाहती हूं कैसे दिखते हैं नर्मदा जाओ खेलो जोहिला बोली मेरे पास अच्छे वस्त्र अच्छे गहने नहीं है कैसे जाऊं नर्मदा मेरे वस्त्र गहने ले लो जाओ देख कर आओ जहा बरात रुकी थी जोहिला वहां गई और सोनभद्र को देखकर खुद मोहित हो गई और सोनभद्र को भी गलतफहमी हो गई जोहिला को नर्मदा समझ बैठा और सब ने सोचा कि नर्मदा यही आ गई हैं तो वहां जाना व्यर्थ हैं भंवर के सारे रस्म हीवही करने लगे यह बात जब नर्मदा को पता चला तो बहुत गुस्से से वहां आई और जोर से लात मारी जोहिला नीचे गिर गई और नर्मदा वहीं से अलग हो गई Less
Baaraat for Narmada Ma was on its way and Johila told Ma Narmada that she wants to meet her jeeja ji. Narmada Ma sends her with her cloth, jewels an More d asked her to meet the Baaraat and see Jeeja ji However Johila fell for Sonbhadra (another river originating in Amarkantak) Sonbhara too misunderstood her to be Narmada Ma Thinking that the progress of Baaraat, the rituals of wedding were begun Hearing this Ma Narmada reached the place and in anger kicked Johila She changed her course from there (Narmada runs west and Sonbhadra runs east, though both originate almost at the same place at Amarkantak) Less
This product is not returnable

Similar Products